कृष्णा फल क्या होता है? जाने कृष्णा फल खाने के फायदे और नुकसान (What is Passion Fruit? Passion Fruit Benefits And Side Effect in hindi)

दोस्तों वैसे तो आप ने बहुत सारे फलो को खाये होंगे लेकिन क्या आप कृष्णा फल (Passion Fruit) को खाये है? दोस्तों बहुत सारे लोग खाये होंगे और बहुत से लोग कृष्णा फल (Passion Fruit) को नहीं खाये होंगे, इसलिए आज के इस पोस्ट में हम आपको बताएँगे की कृष्णा फल क्या होता है?और कृष्णा फल खाने के फायदे और नुकसान (What is Passion Fruit? Passion Fruit Benefits And Side Effect in hindi)

कृष्णा फल क्या है? (What is Passion Fruit in hindi)

कृष्णा फल यानि की पैशन फ्रूट एक प्रकार का विदेशी फल है,कच्चे पर यह फल हरे रंग का और जब पक जाता है तब यह फल पीले या फिर बैगनी रंग का होता है,विदेशो में इस फल को पैशन फ्रूट (Passion Fruit) और भारत में इसे कृष्णा फल के रूप में जाना जाता है, यह फल बेलो पर लगता है, इस फल की लगभग 500 किस्मे है। कृष्णा फल (Passion Fruit) के अंदर आपको काले बीज देखने को मिल जायेंगे इन बीजो को खाया जाता है, कृष्णा फल (Passion Fruit) स्वाद में मीठा होता है।

कृष्णा फल में पाए जाने वाले पोषक तत्व (Passion Fruit Nutritions in Hindi)

दोस्तों कृष्णा फल में अनेक प्रकार के पोषक तत्व पाए जाते है जैसे पोटैशियम, एंटीआक्सीडेंट, लोहा, मैग्नीशियम, फास्फोरस, विटामिन A, विटामिन C, तांबा, फाइबर, फ्लेनोनोडस, राइबोफ्लेबिन आदि पोषक तत्व पाए जाते है जो की हमारे शरीर के लिए काफी फायदेमंद माने जाते है।

कृष्णा फल को कैसे उपयोग करे? (How to use Passion Fruit)

  1. कृष्णा फल यानि पैशन फ्रूट को आप फ्रूट चाट बनाकर खा सकते है।
  2. इसका उपयोग आप जूस बनाने में भी कर सकते है।
  3. पानी में निचोड़ के इसका उपयोग निम्बू की तरह किया जाता है।

कृष्णा फल खाने के फायदे (Benefits of Passion Fruit in Hindi)

दोस्तों आइये अब हम जान लेते है की कृष्णा फल (Passion Fruit) खाने के क्या क्या फायदे है?

1.हड्डियों को मज़बूत बनाने में सहायक

दोस्तों शरीर में कुछ पोषक तत्वो की कमी हो जाने के कारण शरीर की हड्डिया कमजोर पड़ जाती है, जिसके कारण हड्डियों में दर्द, जोड़ो में दर्द आदि समस्या होती है, इसलिए अगर आप अपने हड्डियों को मज़बूत करना चाहते है, तो आपको कृष्णा फल का सेवन करना चाहिए क्योकि कृष्णा फल विटामिन, प्रोटीन, फाइबर आदि पोषक तत्व पाया जाता है, ये सब पोषक तत्व हड्डियों को मज़बूत करने में काफी सहायक होती है।

2.पाचन क्रिया को सही रखता है

दोस्तों कभी कभी ज्यादा बहार का खाना खाने से या फिर किसी और कारण से पाचन क्रिया ख़राब हो जाती है, जिसके कारण हमें उल्टी, दस्त लग सकती है इसलिए अगर किसी को यह समस्या है या फिर आप चाहते है की आपको यह समस्या न हो तो आप कृष्णा फल (Passion Fruit) को जरूर खाये क्योकि कृष्णा फल (Passion Fruit) में फाइबर बहुत अधिक मात्रा में पाया जाता है, जो की पाचन क्रिया को सही करने में काफी ज्यादा सहायक होता है।

3.कैंसर को रोकने में सहायक

आपको कैंसर जैसी घातक बीमारी के बारे में तो पता ही होगा, लेकिन क्या आपको पता है की कृष्णा फल (Passion Fruit) कैंसर जैसी घातक बीमारी को रोकने में काफी सहायक होती है, ऐसा इसलिए होता है क्योकि कृष्णा फल में एंटी आक्सीडेंट गुण तथा अन्य तरह के बिटामिन, प्रोटीन पाए जाते है जो की कैंसर से लड़ने में सहायक होते है।

4.शरीर में इम्युनिटी को बढ़ाये

कृष्णा फल (Passion Fruit) का सेवन करने से शरीर में इम्युनिटी (शरीर की रोग प्रतिरोधक छमता) बढ़ती है, क्योकि इस फल में अनेक प्रकार के पोषक तत्व पाए जाते है, इसलिए अगर आप अपने शरीर की रोग प्रतिरोधक छमता को बढ़ाना चाहते है, तो आप नियमित कृष्णा फल को खाये।

5.अनिद्रा को दूर करे

कृष्णा फल अनिद्रा को दूर करने में सहायक होता है क्योकि इस फल में औषधीय अल्कालोइड, हर्नन नमक यौगिक होता है अनिद्रा, बेचैनी जैसी बीमारियों को दूर करने में काफी सहायक होता है। इसलिए अगर किसी को यह बीमारी है तो उसे कृष्णा फल (Passion Fruit) का सेवन करना चाहिए।

Passion fruit in hindi
तनाव

6.ब्लेड प्रेशर को नियंत्रित रखे

आज के समय में ब्लड प्रेशर के मरीज़ काफी ज्यादा देखने को मिलते है ऐसे में अगर किसी का ब्लेड प्रेशर घटता बढ़ता है, तो उसे कृष्णा फल का सेवन जरूर करना चाहिए, क्योकि इस फल में पोटेशियम उचित मात्रा में पाया जाता है, जो की ब्लेड प्रेशर को घटने बढ़ने से रोकने में सहायक होता है।

7.तनाव को दूर करने में सहायक

तनाव की समय आजकल बच्चे से लेकर बूढ़ो में देखने को मिलती है, तनाव होने के करना आपको सिर दर्द,अनिद्रा,बेचैनी आदि हो सकती है, इसलिए अगर आप तनाव को दूर भगाकर तनावमुक्त रहना रहना चाहते है, तो आपको कृष्णा फल का सेवन जरूर करना चाहिए क्योकि इसमें मैग्नीशियम पाया जाता है, और एक रिसर्च के अनुसार मैग्निशयम तनाव को कम करने में काफी सहायक होता है।

8.खून की कमी को पूरा करे

दोस्तों शरीर में हीमोग्लोबिन की कमी होने के कारण शरीर में खून की कमी हो जाती है, जिसके कारण शरीर कमजोर पड़ने लगता है, इसलिए अगर किसी के शरीर में खून की कमी हो गयी है तो उसे कुछ दिन तक कृष्णा फल को खिलाये ऐसा करने से उसके शरीर में खून की कमी पूरा हो जाएगी, क्योकि इसमें आयरन भरपूर मात्रा में पाया जाता है, जो की खून को बढ़ाने में सहायक होता है।

9. डायबिटीज में सहायक

दोस्तों डायबिटीज यानि की मधुमेय रोग काफी खतरनाक बीमारी होता है, यह शरीर में अपने आने के साथ साथ अन्य बीमारियों को भी लाता है, मधुमेय रोग ठीक होने में काफी समय लेता है, यह रोग औषधियों और कुछ खाद्य पदार्थो से जल्दी ठीक होता है, इसी खाद्य पदार्थो में कृष्णा फल भी शामिल है, क्योकि इस फल में फाइबर अधिक मात्रा में पाया जाता है जो की मधुमेय रोग को नियंत्रित करने में सहायक होता है।

10.आँखों को स्वास्थ्य रखने में सहायक

दोस्तों जैसा की मैंने पहले भी बताया है की आँखे हमारे शरीर की सबसे अहम् हिस्सा होती है, इसलिए अपने आँखों की देखभाल करना हमारी जिम्मेदारी बनती है, इसलिए अगर आप अपने आँखों को स्वाथ्य रखना चाहते है तो आप नियमित रूप से कृष्णा फल का सेवन करे क्योकि इस फल में विटामिन A तथा अन्य प्रकार के बिटामिन तथा पोषक तत्व पाए जाते है, जो की आँखों को स्वाथ्य रखने में काफी सहायक होती है।

कृष्णा फल खाने से होने वाला नुकसान (Passion Fruit Side Effect)

दोस्तों वैसे तो इस फल को खाने से ज्यादा बड़ा नुकसान नहीं होता है।

  1. अगर किसी का शरीर सवेदनशील है तो इस फल का सेवन करने से उसे एलर्जी की समस्या देखने को मिलती है।
  2. गर्भवती महिला को इस फल का सेवन करने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह ले लेना चाहिए।

जरुरी बात

दोस्तों इस पोस्ट में जो कुछ भी बताया गया है वह सब इंटरनेट से रिसर्च करके बताया गया है, इसलिए इस पोस्ट पढ़ने के बाद अगर आप कृष्णा फल का सेवन करते है और आपको किसी भी प्रकार की परेशानी होती है तो आप इस फल को खाना बंद कर दे और पहले जाकर अपने डॉक्टर से सलाह ले फिर इस फल का सेवन करे धन्यबाद।

इसे पढ़े-बादाम खाने के फायदे और नुकसान

लैवेंडर के तेल के उपयोग से फायदे और नुकसान

वजन कैसे बढ़ाये। How to gain weight in Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *