लेमनग्रास के फायदे, उपयोग और नुकसान (Advantages, uses and disadvantages of lemongrass)

दोस्तों आप में बहुत से लोग लेमनग्रास के बारे में जानते होंगे और बहुत लोग इसके बारे में नहीं जानते होंगे, तो मै बता दूँ की लेमनग्रास हरी घास की तरह दिखता है, यह घास ज्यादातर उत्तर भारत में होती है, इसकी खुसबू नीम्बू की तरह आती है, इसकी पत्तियों का उपयोग चाय में भी किया जाती है, जिससे चाय का स्वाद बढ़ जाता है। लेमनग्रास स्वाथ्य सम्बंधित समस्या के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है, इसका उपयोग जड़ी बूटी और औषधी के रूप में किया जाता है, इसलिए आइये हम जान लेते है की लेमनग्रास (lemongrass in hindi) के क्या क्या फायदे और नुकसान है?

लेमनग्रास के फायदे (benefits of lemongrass in hindi)

1.बुखार जैसी समस्या को कम करने में सहायक

दोस्तों लेमनग्रास बुखार को कम करने में सहायक होता है, अगर आपको बुखार है तो आप लेमनग्रास के पत्तियों को चाय में मिलाकर और इसका सेवन करे, ऐसा करने से आपका बुखार जैसी समस्या कम हो जायेगा। आप इसके छाले का भी उपयोग कर सकते है।

2.पेट की समस्या के लिए फायदेमंद

लेमनग्रास पेट की समस्या जैसे पेट के कब्ज, गैस, पेट की अल्सर जैसी समस्या को कम करने में काफी सहायक होते है, लेमनग्रास के उपयोग से आपकी पाचन क्रिया भी अच्छी हो जाती है, जिससे की आपका पेट स्वाथ्य रहता है, और आपको भूख भी अच्छी तरह से लगने लगती है।

3.वजन को तेजी से कम करने में सहायक

अगर आप ज्यादा मोटे है जिसके कारण आपका वजन काफी ज्यादा भारी है, और आप अपने वजन को कम करना चाहते है, तो आपको लेमनग्रास का उपयोग करना चाहिए, क्योकि यह वजन को घटाने में काफी ज्यादा सहायक माना जाता है।

4.नींद लाने में सहायक

दोस्तों अगर आपको रात में नींद न आने की समस्या है और आप इस समस्या से छुटकारा पाना चाहते है, तो आप लेमनग्रास के तेल (lemongrass oil in hindi) को अपने शिर पर मालिश करे, ऐसा करने से आपको सिरदर्द से भी आराम मिलेगा और आपको अच्छी नींद भी आएगी।

5.सर्दी जुखाम की समस्या को दूर करे

अगर आप को सर्दी जुखाम जैसी समस्या हो गयी है, और आप इसको घर पर ही ठीक करना चाहते है, तो आप लेमनग्रास की पत्तियों को चाय में डालकर और उसका उपयोग करे, ऐसा करने से सर्दी जुखाम की समस्या ख़त्म हो जाती है, आप इसके तेल से मालिश भी कर सकते है।

6.शरीर के रोग प्रतिरोधक छमता को बढ़ाता है

लेमनग्रास का उपयोग करने से आपके शरीर के अंदर के रोग प्रति रोधक छमता बढ़ती है, क्योकि लेमनग्रास में एंटी बैक्टीरियल और एंटी फंगल जैसे गुण पाए जाते है, जो की शरीर के अंदर होने वाले अनेक रोगो से लड़ने में काफी सहायक होते है।

7.शरीर में आयरन की मात्रा को पूरा करता है

दोस्तों शरीर में आयरन की मात्रा कम होने से एनीमिया जैसे रोग होने का खतरा बना रहता है, इसलिए अगर आप लेमनग्रास को नियमित रूप से उपयोग करते है, तो यह शरीर में आयरन की मात्रा को बढ़ाता है और एनीमिया जैसे रोगो को ठीक कर शरीर को स्वाथ्य बनाता है।

8.गठिया रोग को कम करने में सहायक

दोस्तों गठिया रोग काफी ख़राब रोग माना जाता है, अगर किसी को यह रोग हो जाता है तो उसे काफी समस्या होता है, उसे उठने, बैठने, चलने में काफी ज्यादा परेशानी का सामना करना पड़ता है,इसलिए अगर किसी को गठिया रोग है तो वह लेमनग्रास का नियमित उपयोग करे, ऐसा करने से उसकी यह समस्या जरूर कम हो जाएगी।

9.पिंपल (मुहासो) को कम करता है

दोस्तों अगर आपके चेहरे पर पिंपल या मुहासे जैसी समस्या हो गयी है, और आप इसे जल्दी से जल्दी ठीक करना चाहते है, तो आप लेमनग्रास का उपयोग कर सकते है, क्योकि इसमें एंटी फंगल जैसे गुण होते है, जो की चेहरे से पिंपल को ख़त्म करने में सहायक होते है।

इसे भी पढ़े-पिंपल ख़त्म करने का तरीका (pimple remove tips in hindi)

10.कोलेस्ट्रॉल को कम करता है

दोस्तों अगर शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा ज्यादा हो जाती है, तो यह शरीर में स्ट्रोक और ह्रदय रोग जैसी बीमारियों को खतरा बढ़ा देती है, इसलिए अगर आप लेमनग्रास को नियमित उपयोग करते है, तो आपके शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा कम नहीं होगी और आपको इन रोगो से कम खतरा रहेगा। क्योकि लेमनग्रास कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करता है।

11.कैंसर जैसी बीमारियों को रोकता है

दोस्तों अगर आप लेमनग्रास का उपयोग नियमित करते है, तो आपको कैंसर जैसी खतरनाक बीमारिया नहीं हो सकती है, क्योकि यह इन बीमारियों को रोकता है।

lemongrass in hindi
lemongrass in hindi

लेमनग्रास का उपयोग (Use of lemongrass in hindi)

आइये हम जान लेते है की लेमनग्रास का उपयोग कैसे करते है?

  1. आप लेमनग्रास को चाय में अदरक की तरह उपयोग कर सकते है।
  2. लेमनग्रास के छालो का भी उपयोग किया जाता है।
  3. इसका उपयोग आप सुबह, शाम या खाने के बाद में भी कर सकते है।
  4. आप लेमनग्रास को चिकन, मटन में भी डाल सकते है।
  5. इसका उपयोग शूप में भी किया जाता है।
  6. लेमनग्रास का उपयोग खाने में भी किया जा सकता है।
  7. आप इसका उपयोग सब्जी में भी कर सकते है।

लेमनग्रास से होने वाले नुकसान (Loss of lemongrass)

दोस्तों अभी तक हमने जाना की लेमनग्रास के क्या फायदे और उपयोग होते है अब हम जान लेते है की लेमनग्रास से क्या क्या नुकसान है?

  1. लेमनग्रास के ज्यादा उपयोग से आपको त्वचा में जलन जैसी समस्या देखने को मिल सकती है।
  2. ज्यादा लेमनग्रास का उपयोग करने से आपके आँखों में भी जलन हो सकती है।
  3. इसके ज्यादा उपयोग से आपको चक्कर आने जैसी समस्या आ सकती है।
  4. लेमनग्रास के उपयोग से कुछ लोगो को एलर्जी जैसी समस्या हो सकती है।
  5. अगर कोई महिला गर्भवती है तो वह इसका उपयोग करने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह जरूर ले ले।
  6. लेमनग्रास के ज्यादा उपयोग से आपको थकान जैसी समस्या हो सकती है।

जरुरी बात

दोस्तों लेमनग्रास के उपयोग से अगर आपको कोई भी समस्या हो रही है, तो आप इसका उपयोग न करे, आप जाकर पहले डॉक्टर को दिखाए धन्यबाद।

इसे भी पढ़े-बालो को झड़ने से रोकने के उपाय (balo ka jhadna kaise…

लैवेंडर के तेल के उपयोग से फायदे और नुकसान

आर्गन ऑयल के फायदे और नुकसान

सरसो के तेल के फायदे, उपयोग और नुकसान

अरंडी के तेल के फायदे और नुकसान-castor oil benefits in hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *